Hindi Status, Short Hindi Quotes

Hindi Status for Whatsapp, New Hindi Status 2017, Best Hindi Status, Funny Hindi Status, Latest Hindi Status, New Hindi Quotes 2017, Latest Hindi Quotes, Best Hindi Quotes FB.
Hindi Status Quotes Short Messages for Whatsapp Facebook

Hindi Attitude Status | Hindi Sad Status | Hindi Love Status

मौत एक सच्चाई है उसमे कोई ऐब नहीं क्या लेके जाओगे यारों कफ़न में कोई जेब नही

हर एक शख्स ने अपने अपने तरीके से इस्तेमाल किया हमें.. और हम समझते रहे लोग हमें पसंद करते हैं !!

क्या हसीन इत्तेफाक़ था, तेरी गली में आने का... किसी काम से आये थे, किसी काम के ना रहे....!!

लौट आती है हर बार इबादत मेरी खाली, न जाने किस ऊँचाई पे मेरा 'खुदा' रहता है...!

जहर के असरदार होने से कुछ नही होता साहब खुदा भी राजी होना चाहिये मौत देने के लिय.

दिल से बेहतर तो रावण है साल में एक ही दिन जलता है.

कुछ लोग हमें अपना कहा करते है । सच कहूँ वो सिर्फ कहा करते है ।

कुछ लौग ये सोचकर भी मेरा हाल नहीं पुँछते... कि यै पागल दिवाना फिर कोई शैर न सुना देँ !!

हम घोडे के ‪‎ट्रिगर‬ पे नहीँ, बल्की खुद के ‪जीगर‬ पे जीते हे ।

होंठो से लगाकर तूने, दिल को एक नये नशे की तलब लगा दी। सकूं मिलता था भींड में हमे, तन्हाई में बुलाकर तूने, तन्हाई की आदद्त लगा दी।

लोग कहते हैं की इतनी दोस्ती मत करो के दोस्त दिल पर सवार हो जाए में कहता हूँ दोस्ती इतनी करो के दुश्मन को भी तुम से प्यार हो जाए.

लोग हमें समजते कम हे और समजाते ज्यादा हे... इसलिए मामले सुलजते कम हे और उलजते ज्यादा हे ...!!

गर्लफ्रेंड तोह बच्चे पटाते हे, मे तोह कमिना हु, कमिनी ही पटाउन्गा..

गलत बन्दे से प्यार कर रही है वो.. मोहब्बत मेँ कही हुस्न ना खराब कर बैठे.

खुद के लिए कभी कुछ माँगा नहीं, औरों के लिए सर झुकाने पड़ते हैं।

पानी मेँ पत्थर मत झेको उस पानी कोभी कोई पीता है॥ यु मत रहो जिँदगी मेँ उदास तुमे देख के भी कोई जिता है॥

जिस क़दर उसकी क़दर की हमनें !! उस क़दर बेक़दर हो गए हम..

जहां तक रिश्तों का सवाल है.....लोगो का आधा वक़्त.... अन्जान लोगों को इम्प्रेस करने औरअपनों को इग्नोर करने में चला जाता हैं...!!

जैसा भी हूं अच्छा या बुरा अपने लिये हूं, मै खुद को नही देखता औरो की नजर से..

Aasani Se Koi Mil Jaye To Wo Kismat Ki Baat Hai.... Suli Par Chadh Kar Bhi Jo Na Mile Use Mohabbat Kehte Hai.

Bade ajeeb se aajkal is Duniya ke mele hai, Dikhti toh bheed hai yahan, Par chalte sab akele hai.

Har saza qubool ki sar jhuka ke humne.. Kasoor bas itna tha ke bekasoor the hum..

Khuda se fariyad baki h,pyarzinda h kyuki yad baki h,maut aayegi to keh kr lauta denge, ki abhi kisi khas se akhiri mulakat baki h...

Kitna anokha bandhan hai ye.. Teri meri jaan jo ek hui....!

pyaar aap se kitna karte he bata nai sakte, bas jee nai sakte aap ke bina ye bhee sach he..

Zindagi Tab Tak Salamat Rakhna... Mere Khuda...!! Jab Tak K Meri Muhabbat Ko Mujh se Muhabbat Na Ho jaye.

नेक बनने के लिए ऐसी कोशिश करो जैसी कोशिश खूबसूरत दिखने के लिए करते हो.

गुलाम बनकर जिओगे तो कुत्ता समजकर लातमारेगी ये दुनिया.. नवाब बनकर जिओगे तो शेर समझ सलामठोकेगी ये दुनिया.

अगर प्यार है तो शक़ कैसा अगर नहीं है तो हक़ कैसा.

तेरी आँखों के जादू से तू ख़ुद नहीं है वाकिफ़ ये उसे भी जीना सीखा देती है जिसे मरने का शौक़ हो!!

न जाने क्या मासूमियत है तेरे चेहरे पर..तेरे सामने आने से ज़्यादा.. तुझे छुपकर देखना अच्छा लगता है...!!!

तु बेशक अपनी महफ़िल में मुझे बदनाम करता है, लेकिन तुझे अंदाजा भी नहीं की वो लोग भी मेरे पैर छुते है, जिन्हें तु भरी महफ़िल में सलाम करता है.

हम तो बदनाम हुए कुछ इस कदर की पानी भी पियें तो लोग शराब कहते हैं.

जब भी अपनी शख्शियत पर अहंकार हो, एक फेरा शमशान का जरुर लगा लेना..

तेरे दीदार की आस में आते हैं तेरी गलियों में वरना सारा शहर पडा है आवारगी के लिए.

भगवान से वरदान माँगा कि दुश्मनों से पीछा छुड़वा दो अचानक दोस्त कम हो गए.

अपनी भूख का इल्ज़ाम न दे तू खुदा को.. वो माँ के पेट में भी बच्चों को पाल देता है !

इस शिद्दत से निभा अपना किरदार पर्दा गिर जाए पर तालियाँ बजती रहे.

मेरे हाल पर हसने वालो बस इतना याद रखना लोगो का तो वक्त आता हे पर मेरे पूरा दोर आएगा.

थक गया हूँ तेरी नौकरी से ऐ जिन्दगी मुनासिब होगा मेरा हिसाब कर दे.

तु बेशक अपनी महफ़िल में मुझे बदनाम करता है, लेकिन तुझे अंदाजा भी नहीं की वो लोग भी मेरे पैर छुते है, जिन्हें तु भरी महफ़िल में सलाम करता है.

माचिस की ज़रूरत यहाँ नहीं पड़ती यहाँ आदमी आदमी से जलता है.

सुना है इश्क़ से तेरी बहुत बनती है एक एहसान कर उस से क़ुसूर पुछ मेरा.

मेरे इरादे मेरी तक़दीर बदलने को काफी हैं मेरी किस्मत मेरी लकीरों की मोहताज़ नहीं.

मेरे लफ़्ज़ों की सही पहचान, अगर वो कर लेते उन्हें मुझसे ही नहीं खुद से भी मोहब्बत हो जाती.

आप दिल से यूँ पुकारा ना करो, हमको यूँ प्यार से इशारा ना करो, हम दूर हैं आपसे ये मजबूरी है हमारी, आप तन्हाइयों मे यूँ रुलाया ना करो..

अगर जींदगी मे कुछ पाना हो तो तरीके बदलो ईरादे नही.

अजीब दस्तूर है मोहब्बत का रूठ कोई जाता है, टूट कोई जाता है.

भरी जेब ने दुनिया की पहेचान करवाई और खाली जेब ने इन्सानो की.

एक सवेरा था जब हँस कर उठते थे हम और आज कई बार बिना मुस्कुराये ही शाम हो जाती है.

तेरे होठों से भी क्या खूब नशा मिला यूँ लगता है तेरे जूठे पानी से ही शराब बनती है|

ख़ुशी तकदीरो में होनी चाहिए तस्वीरो में तो हर कोई खुश नज़र आता है|

दुनिया के बड़े से बड़े साइंटिस्ट ये ढूँढ रहे है की मंगल ग्रह पर जीवन है या नहीं पर आदमी ये नहीं ढूँढ रहा कि जीवन में मंगल है या नही.

जब लगे पैसा कमाने, तो समझ आया शौक तो मां-बाप के पैसों से पुरे होते थे अपने पैसों से तो सिर्फ जरूरतें पुरी होती है.

मैंने अपनी मौत की अफवाह उड़ाई थी दुश्मन भी कह उठे आदमी अच्छा था.

कोई मिल जाए तुम जैसा ये ना-मुमकिन है पर तुम ढूँढ लो हम जैसा इतना आसान ये भी नही.

दम कपड़ों में नहीं, जिगर में रखो बात कपड़ों में होती तो सफेद कफन में लीपटा मुर्दा भी सुलतान मिर्ज़ा होता.

इस कदर हर तरफ तन्हाई है, उजालो मे अंधेरों की परछाई है, क्या हुआ जो गिर गये पलकों से आँसू, शायद याद उनकी चुपके से चली आई है.

चाहे दुश्मन मिले चार या चार हज़ार सब पर भारी पड़ेंगे मेरे जिगरी यार.

कितनी खुबसूरत सी हो जाती है ये दुनिया जब अपना कोई कहता है कि तुम याद आ रहे हो.

कहते हैं के कब्र में सुकून की नींद आती है अज़ीब बात है कि ये बात भी ज़िन्दा लोगों ने कही है.

नशा हम किया करते है इलज़ाम शराब को दिया करते है कसूर शराब का नहीं उनका है जिनका चहेरा हम जाम मै तलाश किया करते है।

कहां कोइ मिला जिस पर दिल लुटा देते हर एक ने धोखा दिया किस किस को भुला देते रखते हैं दिल में छुपा के अपना दर्द करते बयान तो महफिल को रुला दे।

वो बार बार मुझसे पूछती है आखिर क्या है मोहब्बत अब क्या बताऊं उसे की उसका पूछना और मेरा ना बताना यही मोहब्बत है।

तू मोहब्बत है मेरी इसीलिए दूर है मुझसे अगर जिद होती तो शाम तक बाहों में होती।

आपसे मुलाक़ात की अजब निशानी है, हँसते हँसते आंखे भर आती हें जिंदगी में हो चाहे कितनी परेशानी, आपके साये में हर मुश्किल आसा।

कुछ सही तो कुछ खराब कहते हैं लोग हमें बिगड़ा हुआ नवाब कहते हैं।

किसी की महोब्बत से हमने क्या पाया है रात की नींद और दिन का चैन गंवाया है क्या करें हम इस दिल का जिसे आज बरबाद हो कर भी होश नहीं आया है।

बहुत तकलीफ देती है ना मेरी बातें तुम्हें देख लेना एक दिन मेरी खामोशी तुम्हें रुला देगी।

नदी जब किनारा छोड़ देती है राह की चट्टान तक तोड़ देती है बात छोटी भी अगर चुभ जाती हैं दिल में, ज़िन्दगी के रास्तों को मोड़ देती है।

शतरंज की चालों का खौफ़ उन्हें होता है जो सियासत करते हैं साहेब हम तो यारी करते हैं।

भगवान अगर कुछ देना चाहें तो पहले दोनो हाथ खाली कर देता है... ताकि आपको कुछ बेहतर दे सकें।

बिखर कर रह गया.. वजूद मेरा..! मै तो समझा था, इश्क संवार देगा मुझे।

मज़हब पता चला, जो मुसाफ़िर की लाश का!! चुपचाप आधी भीड़ घरों को चली गई।

तू बदनाम ना हो इसलिये जी रही हूं मै, वरना तेरी चौखट पे मरने का इरादा रोज़ होता है।

मजा चख लेने दो उसे गेरो की मोहबत का भी, इतनी चाहत के बाद जो मेरा न हुआ वो ओरो का क्या होगा |

बन के तुम मेरे मुझको मुकम्मल कर दो....अधूरे-अधूरे अब हम ख़ुद को भी अच्छे नहीं लगते।

बेशक वो ख़ूबसूरत आज भी है, पर चेहरे पर वो मुस्कान नहीं, जो हम लाया करते थे।

अपनी हार पर कितना शकून था मुझे, जब उसने गले लगाया जीतने के बाद।

हर बार सम्हाल लूँगा गिरो तुम चाहो जितनी बार, बस इल्तजा एक ही है कि मेरी नज़रों से ना गिरना।

आज भी लोग हमारी इतनी इज्जत करते हैं, हमारे ‪‎status‬ वो सर झुकाकर पढ़ते हैं।

तेरी मोहब्बत को कभी खेल नही समजा, वरना खेल तो इतने खेले है कि कभी हारे नही ।

हकीकत में ये खामोशी हमेशा चुप नही रहती, कभी तुम गौर से सुनना बहुत किस्से सुनाती है।

न ज़ख्म भरे, न शराब सहारा हुई, न वो वापस लौटीं, न मोहब्बत दोबारा हुई...

चलो अब जाने भी दो.. क्या करोगे दास्तां सुनकर, ख़ामोशी तुम समझोगे नहीं, और बयां हमसे होगा नही।

खुद को बिखर्ने मत देना, कभी किसि हाल मेँ, लोग गिरे हुए माकान कि, ईटे तक लेजा ते है।

प्यार करना सीखा है, नफरतों का कोई ठौर नहीं....!! बस तू ही तू हैं दिल में, दूसरा कोई और नहीं....!!

ज़िंदगी से बस यही गिला है मुझे, तू बहुत देर से मिला है मुझे।

तब, महबूबा की गलियों के चक्कर काट काट कर जवानी बिता दी जाती थी अब, मोबाइल को चार्जिंग में लगाये लगाये बीत रही है।

है कोई वकील इस जहान में,जो हारा हुआ इश्क जीता दे मुझको।

Hum Bhi Dariya Hain Humein Apna Hunar Maloom Hai Jis Taraf Bhi Chal Parainge Raasta khud hi bna lenge.

Kheench Leti Hai Unki Mohabbat Mujhe Har Baar !!!! Warna Bahut Baar Mile Thay Unse Aakhri Baar.

Sub Kuch Hasil Nahi Hota Zindagi Mein Yahan, Kisi Ka 'Kaash' To Kisi Ka 'Agar' Rah Hi Jaata Hai...!!

Bikne Wale Aur Bhi Hain Yahan, Jao Jaa Kar Khareed Lo, Hum 'Kimat' Se Nahi 'Kismat' Se Mila Karte Hain....!!!

Sunaa Hai Teri Aankho Se log Qatal hote Hai...Ek Nazar Mujhe Bhi Dekh Le... Mujhe Zindagi Achi Nahi Lagti...!!!

Jitni hasrat thi tujhe 'PAANE' ki.. aaj utni hasrat hai tujhe 'BHUL' jaane ki...!!!

अब कहा जरूरत है पत्थर उठाने की, लोग जुबान से ही रिश्ते तोड जाते है ।

जीतें है इस आस पर एक दिन तुम आओगे, मरते इसलिए नहीं क्युँकी अकेले रह जाओगे..!!

एकअजीब सी जंग छिडी हे तेरी यादो को लेकर, आँखे कहती है सोने दे, दिल कहता है रोने दे!!!!

हम भी दरिया है, हमे अपना हुनर मालूम हे। जिस तरफ भी चल पडेंगे, रास्ता हो जायेगा।

समझदारी आने तक यौवन चला जाता है जब तक माला गुंथी जाती है फूल मुरझा जाते हैं।

तुम कहो या ना कहो... तकाज़े सब बयां कर देते हैं.... फिर चाहें बेरुखी हो या मोहब्बत.

गुलाब से पूछो कि दर्द क्या होता है, देता है पैगाम मोहब्बत का और खुद कांटो में रहता है.

हमसे मोहब्बत का दिखावा न किया कर, हमे मालुम है तेरे वफा की डिगरी फर्जी है ..!!

बस ऐक चहेरे ने तन्हा कर दिया हमे, वरना हम खुद ऐक महेफिल हुआ करते थे...!!!

पढ़ रहा हुं मैं इश्क की किताब अगर बन गया वकील तो, बेवफओं की खैर नही..।

दुश्मन के सितम का खौफ नहीं हमको, हम तो दोस्तों के रूठ जाने से डरते हैं.!!

सिर्फ तूने ही कभी मुझको अपना न समझा, जमाना तो आज भी मुझे तेरा दीवाना कहता है

फ़रिश्ते ही होंगे जिनका इश्क मुकम्मल होता है, हमने तो यहाँ इंसानों को बस बर्बाद होते देखा है

मौत और मोहोब्बत तो बस नाम से बदनाम है.. असली दर्द तो Slow Internet देता है !!

कुछ लोग आंसुओं की तरह होते हैं पता ही नहीं चलता साथ दे रहे हैं या साथ छोड़ रहे हैं....!!

खूश्बु कैसे ना आये मेरी बातों से यारों, मैंने बरसों से एक ही फूल से जो मोहब्बत की है ।

उसके दिलमें नही तो क्या हुआ.. उसकी ब्लॉकलिस्ट में तो है हम.

क्यूँ घबराता है ऐ इंसान तू कुछ खोने से, जीवन तो शुरू ही होता है रोने से.

खुद की "Selfy" निकालना सेक़ेन्डों का काम है, लेक़िन खुद की "Image" बनानें में जिन्दगी गुजर जाती है !!

मिट्टी का तन, मस्ती का मन, छण भर जीवन, मेरा परिचय

और भी बनती लकीरें दर्द की शुकर है खुदा तेरा जो हाथ छोटे दिए।

सीढिया उन्हे मुबारक हो... जिन्हे छत तक जाना है... मेरी मन्जिल तो आसमान है.. रास्ता मुझे खुद बनाना है..।

सारी दुनिया रूठ जाने से मुझे मुझे गरज नहीं,बस एक तेरा रूठ जाना मुझे तकलीफ देता है..

मैंने भी बदल दिये हैं जिन्दगी के उसूल । अब जो याद करेगा सिर्फ वही याद रहेगा ।

रूह तक नीलाम हो जाती है इश्क के बाज़ार में, इतना आसान नहीं होता किसी को अपना बना लेना

आईने के सामने सजता सँवरता है हर कोई, मगर आइनों सी साफ जिन्दगी जीता है कोइ-कोई

हेंसीयत तो इतनी हैं की.. जब आंख उठाते हैं तो नवाब भी सलाम ठोकते हैं....!!!

काश मेरा घर तेरे घर के करीब होता..। मोहब्बत ना सही देखना तो नसीब होता..

इस दुनीया मैं हम से जलने वाले बहोत हैं.. मगर उससे कोइ फरक नहीं पड़ता.. !! क्योंकी हम पे मरने वाले भी बहोत हैं !

उसके ख्याल से ही इतनी ख़ूबसूरत है दुिनयां अगर वो साथ हो तो क्या बात है..

दोस्ती का इरादा था.. प्यार हो गया।। दोस्तो अब दुआ दीजिये... सलाह नही।।

मैंने अपनी मौत की अफवाह उड़ाई थी, दुश्मन भी कह उठे आदमी अच्छा था..

नसीब का लिखा तो मील ही जायेगा, या रब .... देना हे तो वो दे जो तकदीर मे ना हो .

कतल हुवा इस तरह हमारा किश्तों में, कभी खंजर बदल गये कभी कातिल ।।

मुझे ढूंढने की कोशिश अब न किया कर, तूने रास्ता बदला तो मैंने मंज़िल बदल ली...!!

इन्सान की चाहत है कि उड़ने को पर मिले, और परिंदे सोचते हैं कि रहने को घर मिले...!

तेरी याद से अच्छी तो मेरी सराब हे ज़ालिम, कमब्क्त रुलाने के बाद सुला तो देती हे मुझे !!

बेर कैसे होते है 'शबरी' से पूछो, राम जी से पूछोगे तो मीठा ही बोलेंगे !!

मजबूत रिश्ते और कडक चाय......धीरे धीरे बनते है...!!

यूँ तो शिकायते तुझ से सैंकड़ों हैं मगर.. तेरी एक मुस्कान ही काफी है सुलह के लिये....!!

ऊपर जिसका अन्त नही उसे आसमां कहते है॥ इस जहां मे जिसका अन्त नही उसे मां कहते है॥

बड़ी मुस्किल से बनाया था अपने आपको काबिल उसके, उसने ये केहकर बिखेर दिया.. की तुमसे मोह्बत तो है पर पाने की चाहत नही हे !!

छोड़ तो सकता हूँ मगर छोड़ नहीं पाता उसे, वो शख्स मेरी बिगड़ी हुई आदत की तरह है.

हम तो यूहीँ दिल साफ रखा करते थे..... पता नहीं था कीमत चेहरों की होती है..

इन बादलों का मिज़ाज मेरे मेहबूब से काफी मिलता हे, कभी टुटके बरसाते हे तो कभी बेरुखी से गुजर जाते हे !!

फ़रिश्ते ही होंगे जिनका हुआ इश्क मुकम्मल, इंसानों को तो हमने सिर्फ बर्बाद होते देखा है.....!!

मेरी जिंदगी का खेल शतरंज से भी मज़ेदार निकला.. मैं हारा भी तो अपनी हीं रानी से..!!

वो फिर से लौट आये थे मेरी जिंदगी में....अपने मतलब के लिये और हम सोचते रहे की हमारी दुआ में दम था ..

शायरी का बादशाह हुं और कलम मेरी रानी, अल्फाज़ मेरे गुलाम है, बाकी रब की महेरबानी

होठ मिला दिए उसने मेरे होठो से यह कहकर... शराब पीना छोड़ दोगे तोह यह जाम तुम्हे रोज़ मिलेगा..

‎attitude तो‬ सब लोगों के पास होता है, बस फर्क इतना है कि किसी का Attitude छिप जाता है, और हमारा Attitude तो छप जाता है..!

आगरा का ताजमहल गवाह हैं की औरत जीते जी ही नहीं मरने के बाद भी जेबें खाली करवा सकती है.

खुशियाँ बटोरते बटोरते उम्र गुज़र गई .. पर हाथ कुछ न लगा ! तब जाकर ये एहसास हुआ कि .. खुश तो वो लोग हैं "जो खुशियाँ बाँट रहे थे" !!

इतिहास गवाह हैं (खबर..) हो या (कबर..) खोदते 'अपने' ही हैं..

1st Page   ◄ 2  3  4 ►   Last page
Status